Skip to main content

केजीएमयू में माती अस्पताल, पेट सी.टी. स्कैन एवं रूफटाप सोलर पावर प्रोजेक्ट का बटन दबाकर उद्घाटन किया गया

 लखनऊ/ संवाददाता
केजीएमयू चिकित्सा के क्षेत्र में वर्ल्ड क्लास सेंटर बने, इसके लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध प्रत्येक मरीज को संतुष्टि मिले, दुनिया में चिकित्सा का रोल मॉडल बने, ऐसा कार्य करें 
माती अस्पताल शुरू होने ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को बेहतर इलाज मिलेगा, साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में पनपने वाली बीमारियों को समय से नियंत्रित भी किया जा सकेगा |पेट सी.टी. स्कैन के स्थापित होने से मरीजों को कैंसर, डायबिटिज, टी.वी. तथा मानसिक रोग जैसे बीमारियों की जांच एवं इलाज में आसानी होगी बिजली बिल में कमी लाने को केजीएमयू की शत-प्रतिशत छतों पर लगेगा रूफटॉप सोलर पावर प्लान्ट -उपमुख्यमंत्री श्री ब्रजेश पाठक
केजीएमयू की कार्य संस्कृति बहुत अच्छी, यहां के डॉक्टर, नर्स, स्टाफ का व्यवहार बहुत अच्छा, अच्छे वातावरण में मरीजों का इलाज किया जा रहा एक मेगावाट क्षमता का रूफटाप सोलर पावर प्रोजक्ट स्थापित होने से प्रतिवर्ष 60 लाख रूपये की बचत होगी केजीएमयू अपने यहां से निकलने वाले मेडिकल वेस्ट के बेहतर प्रबंधन का भी माडल बने प्रधानमंत्री जी के विजन ’कचरे से कंचन’ बनाने की पहल को आगे बढ़ाये -नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए0के0 शर्मा
मरीजों के हित में केजीएमयू अपनी सेवाओं को निरन्तर बढ़ा रहा -कुलपति ले0जन0 डा0 बिपिन पुरी
प्रदेश के किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय, लखनऊ में उपमुख्यमंत्री  ब्रजेश पाठक, नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री ए0के0 शर्मा, चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री मयंकेश्वर शरण सिंह द्वारा आज माती अस्पताल, पेट सी.टी. स्कैन एवं रूफटाप सोलर पावर प्रोजेक्ट का बटन दबाकर उद्घाटन किया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश सरकार प्रत्येक मरीज को बेहतर चिकित्सा सुविधा मिले, इसके प्रयास कर रही है। माननीय प्रधानमंत्री के आयुष्मान योजना के तहत गरीबों को चिकित्सा में मदद की जा रही है। इन सबके बावजूद केजीएमयू को भी ऐसा कार्य करना होगा कि प्रत्येक मरीज को संतुष्टि मिले, और दुनिया में चिकित्सा का रोल माडल बने। उन्होंने कहा कि केजीएमयू चिकित्सा के क्षेत्र में वर्ल्ड क्लास सेंटर बने, इसके लिए प्रदेश सरकार प्रतिबद्ध है।उपमुख्यमंत्री ने कहा कि केजीएमयू का चिकित्सा क्षेत्र में दुनियाभर में नाम है। इस संस्थान को 100 वर्ष हो गये मरीजों की सेवा करते हुए। इस अवधि में चिकित्सा विज्ञान में नित नये आयाम हासिल किये। इसके लिए यहां की फैकल्टी धन्यवाद की पात्र है। उन्होंने कहा कि मरीजों की देखभाल एवं इलाज में कोई कमी न रहे, अब ऐसा कार्य करना है। सरोजनीनगर के बिजनौर क्षेत्र के माती गांव में माती अस्पताल शुरू होने से ग्रामीण क्षेत्रों के मरीजों को बेहतर इलाज मिलेगा। साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में पनपने वाली बीमारियों को समय से नियंत्रित भी किया जा सकेगा। इसी प्रकार पेट सी.टी. स्कैन के स्थापित होने से मरीजों को कैंसर, डायबिटिज, टी.वी. तथा मानसिक रोग जैसे बीमारियों की जांच एवं इलाज में आसानी होगी। पाठक ने ऊर्जा मंत्री से कहा कि चिकित्सा क्षेत्र सेवा का क्षेत्र है। केजीएमयू को प्रतिमाह 05 करोड़ रूपये बिजली का कामर्शियल बिन देना पड़ता है, जबकि लोहिया संस्थान, पी0जी0आई0 को काफी कम बिल देना पड़ता है। इस दायरे में केजीएमयू को भी लाया जाय तो बेहतर होगा। उन्होंने कहा कि संस्थान की अभी 75 प्रतिशत छत खाली है। यहां के छात्रावास सहित इस पर रूफटाप सोलर लगाया जायेगा, जिससे कि बिजली के बिल में कमी आ सके।प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित होकर कहा कि केजीएमयू की कार्य संस्कृति बहुत अच्छी है। यहां के डाक्टर, नर्स, स्टाफ का व्यवहार बहुत अच्छा है। अच्छे वातावरण में मरीजों का इलाज किया जा रहा है। कैम्पस की साफ-सफाई बहुत अच्छी है। इसे बनाये रखना है। मा0 प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में ग्रीन एनर्जी के प्रयोग को बढ़ाया जा रहा है। नवीकरणीय ऊर्जा के प्रयोग से कार्बन उत्सर्जन में कमी आयेगी और हम नेट जीरो एमिशन के साथ एक बेहतर, स्वच्छ पर्यावरण आने वाली पीढ़ी को देंगे।ए0के0 शर्मा ने कहा कि नेडा के सहयोग से यहां पर एक मेगावाट क्षमता का रूफटाप सोलर पावर प्रोजक्ट तीन माह में स्थापित कराया गया। इससे प्रतिवर्ष 60 लाख रूपये की बचत होगी। साथ ही 4500 से 5000 यूनिट बिजली पैदा होगी और 1500 टन कार्बन उत्सर्जन कम होगा। उन्होंने कहा कि इसके पहले भी यहां पर 1.37 मेगावाट का सोलर प्लान्ट लगाया गया है। सौर ऊर्जा की कीमत थर्मल पावर की आधी होती है। कहा कि ऊर्जा ही सृष्टि के संचालन का स्रोत है। सब कुछ ऊर्जा से ही चल रहा है। उन्होंने केजीएमयू से निकलने वाले मेडिकल वेस्ट के बेहतर प्रबंधन के लिए भी मॉडल प्रस्तुत करने को कहा और प्रधानमंत्री के विजन ‘‘कचरे से कंचन’’ बनाने की पहल को आगे बढ़ाये।चिकित्सा शिक्षा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री मयंकेश्वर शरण सिंह ने इस अवसर पर कहा कि माती हास्पिटल को बनाने में कार्यदायी संस्थाओं ने काफी समय लिया है। जो कि प्रदेश सरकार की मंशा के विपरीत है। जनता के लिए उपयोगी प्रोजेक्ट में देरी समाज के हित में नहीं, ऐसे कार्यो में सुधार करें। जनता को बेहतर सुविधायें प्रदान करें, किसी को भी शिकायत का मौका न दें।केजीएमयू के कुलपति ले0जन0 डा0 बिपिन पुरी ने अपने स्वागत उद्बोधन मंे बताया कि इस संस्थान के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है। तीन प्रोजेक्ट का लोकार्पण किया गया है। हम अपनी सेवाओं को निरन्तर बढ़ा रहे हैं। आवासीय सुविधा से युक्त माती अस्पताल के बनने से ग्रामीण चिकित्सा के क्षेत्र में कार्य करने का मौका मिलेगा। विद्यार्थी गॉव में जाकर बीमारियों की रोकथाम के लिए प्रयास करेंगे। इसी प्रकार रूफटाप सोलर पॉवर प्रोजेक्ट के लगने से केजीएमयू के 13.27 मेगावाट के कुल विद्युतभार में कमी आयेगी और पैसों की बचत होगी। इसी प्रकार पेट सीटी स्कैन के लगने से कैंसर, थायराइड, इन्डोस्कोपिक, टीबी, मानसिक बीमारियों, नसो के ब्लाकेज की जॉच में बहुत मदद मिलेगी और गम्भीर बीमारियों मंे आसानी होगी। इस दौरान इन तीनों प्रोजक्ट से संबंधित लघु फिल्म को भी दिखाया गया। कार्यक्रम में सीतापुर के विधायक  शशांक त्रिवेदी, केजीएमयू के प्रतिकुलपति प्रो0 विनीत शर्मा, संस्थान के रजिस्टार, प्रोफेसर, डाक्टर, छात्र उपस्थित थे।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।