Skip to main content

22 जनवरी को अयोध्या नहीं, अपने आस–पास का अंधेरा मिटाना है, मोदीजी का अहवाहन– कौशल किशोर।



...
संवाददाता 
-दृष्टिकोण बदलना ही सबसे श्रेयस्कर है— कौशल किशोर।
लखनऊ। 
प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के तट तथा वन में चल अप महोत्सव में जिस तरह से कवि और साहित्यकारों अपनी रचनाएं प्रस्तुत की जा रही है यह कहना अतिशयोक्ति नहीं होगा कि इससे अच्छा मंच और कहीं नहीं हो सकता जहां पर बड़ी संख्या में दर्शन सबको सम्मान मिला रहा हो 16 व अप महोत्सव जो सेक्टर व पोस्ट ग्राउंड निकट केंद्रीय विद्यालय अलीगंज लखनऊ में चल रहा है, आज अखिल भारतीय कवि लोक सृजन संस्थान के सौजन्य से यूपी महोत्सव के मंच पर एक मुक्त काव्य एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया जिसमें बहुत सारे कवियों और साहित्यकारों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ शिवमंगल सिंह मंगल, मुख्य अतिथि श्री निर्भय नारायण निर्भीक, विशिष्ट अतिथि श्री त्रिवेणी प्रसाद दुबे और डॉक्टर सुल्तान शाकिर रहे। समारोह का संचालन ओमनीरव ने किया और संयोजन भारतीय पायल ने किया। सम्मानित होने वाले कवियों में डॉ श्रीमंगल सिंह मंगल, प्रकाश, मनमोहन सिंह, रमा जैन अग्रवाल, निवेदिता श्रीवास्तव, कामिनी श्रीवास्तव, मृत्युंजय प्रसाद गुप्ता, रमाशंकर सिंह, अशोक कुमार श्रीवास्तव, डॉ मधु पाठक मुख्य थे। यूपी महोत्सव के एक अन्य कार्यक्रम में ए प सिरामिक गुजरात, एस सी इस ग्रुप, प्रगति विचारधारा फाउंडेशन एवं सुभाष संस्थान के संयुक्त तत्वाधान में साहित्य संस्कृति महाकुंभ का आयोजन किया गया। सीमा गुप्ता द्वारा वाणी वंदना, रेनू पाठक द्वारा कृष्ण वंदना, सुरेश सिंह का काव्य पाठ एवं तनुश्री श्रीवास्तव, सुरेंद्र शर्मा, स्मिता सिंह द्वारा दी गई प्रस्तुति बहुत ही सराहनीय रही। इसके अलावा क्षितिज चतुर्वेदी, नीतू चौहान, सुधा मिश्रा, सीमा गुप्ता, प्रदीप चौहान, लीलाधर नायक, चांदनी बाला, विपुल मिश्रा ने भी कार्यक्रम में अपनी प्रस्तुति दी।

यूपी महोत्सव में आज विशेष रूप से मुख्य अतिथि के रूप में केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर अपने व्यस्त समय निकाल कर पधारे और मंच तथा महोत्सव की शोभा बढ़ाई। मुख्य अतिथि का स्वागत संस्था के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह द्वारा पौधा एवं राम मंदिर का प्रतीकात्मक मॉडल भेंट कर किया गया। इस अवसर पर विनोद कुमार सिंह ने मुख्य अतिथि का स्वागत करते हो कहा कि यह बहुत ही सौभाग्य का विषय है कि आप प्रथम बार यूपी महोत्सव में सांसद के रूप में पधारे थे और आज केंद्रीय मंत्री के रूप में अपने शिरकत की है, प्रगति पर्यावरण संरक्षण आपका सदैव आभारी रहेगा। संस्था द्वारा पर्यावरण, प्रदूषण, नारी सशक्तिकरण जैसे विषयों पर अनेकों कार्यक्रम किए जाते हैं, समाज को जागृत कर जागरूक करने का हमेशा प्रयास किया जाता है। मुख्य अतिथि केंद्रीय राज्य मंत्री कौशल किशोर ने कहा कि संस्था द्वारा ‘क्लीन भारत, ग्रीन भारत’ का जो संकल्प लिया गया है निसंदेह बहुत ही सराहनीय है। भारत के प्रधानमंत्री ने भी आह्वान किया है कि 22 जनवरी को जब अयोध्या में रामलला जब अपने घर पशारें तो सभी देशवासी अपने आस—पास के सभी प्रकार के अंधेरों को दूर करने का प्रयास करें जिसमें पर्यावरण, प्रदूषण, नशाखोरी नारी सशक्तिकरण, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि यह सब कुछ शामिल है; यदि हम इस अंधेरे को समाप्त करेंगे तो यही सच्चा राम राज्य होगा। मुख्य अतिथि कौशल किशोर ने कहा कि हमें अपने बच्चों को हॉस्टल की जगह घरों में रखकर पढ़ना होगा और भारतीय संस्कार देना होगा। हमें अपने जीवन में एटीट्यूड को त्यागना होगा: हम जो हैं वही बताना होगा, हर व्यक्ति पहले इंसान है उसके बाद सांसद है, विधायक है और मंत्री है। जीवन हमको सरल बना है और अपने अंदर के अहम को अपने से दूर रखना है, यही सच्चे भारतीय का गुण है और कर्तव्य है। आज के विशेष कार्यक्रम में मुख्य अतिथि द्वारा यूपी गौरव सम्मान से डॉक्टर माधुरी वर्मा एवं गीतिका चतुर्वेदी को स्मृति चिन्ह एवं राम मंदिर का प्रतीकात्मक मॉडल देकर सम्मानित किया। इसके पूर्व मुख्य अतिथि कौशल किशोर एवं अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह तथा उपाध्यक्ष एन बी सिंह द्वारा राम सीता की आरती उतार कर आशीर्वाद ग्रहण किया। मंच पर ऐसा लगा कि सब कुछ राममय हो गया है। उपाध्यक्ष एमपी सिंह ने महोत्सव है सभी दर्शकों का आभार जताया और महोत्सव में आने के लिए धन्यवाद दिया।

 इस अवसर पर पवन पाल, दिलीप कुमार श्रीवास्तव, प्रिया सिंह चौहान, अंजुमन, शिवम सिंह, सभासद राघव राम तिवारी सहित भारी संख्या में गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।
यूपी महोत्सव की सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह और एन. बी. सिंह ने दीप प्रज्जवलित कर किया तथा महोत्सव में प्रिया पाल ने सभी कलाकारों को सर्टिफिकेट दे कर सम्मान्तिन किया। कार्यक्रम का संचालन अरविंद सक्सेना और हेमा खत्री ने किया।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।