Skip to main content

बीबीएयू की सदफ खान अंतरराष्ट्रीय COP-28 सम्मेलन में करेंगी भारत का प्रतिनिधित्व

...
संवाददाता/लखनऊ 

राष्ट्रपति के हाथों स्वर्ण पदक पा चुकी हैं सदफ खान

लखनऊ। बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय की सदफ खान मिस्र में होने वाली COP 28 सम्मेलन में पूरे भारत का प्रतिनिधित्व करेंगी।नवंबर में होने वाले इस सम्मेलन का आयोजन द ब्रिट्श यूनिवर्सिटी इन इजिप्ट,जायेद यूनिवर्सिटी, संयुक्त अरब अमीरात और संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) द्वारा किया जा रहा है।पूरे विश्व के 25 देशों से 130 प्रतिभाशाली युवाओं को इसके लिए ब्रिटिश और संयुक्त अरब अमीरात की यूनिवर्सिटी और यूएनडीपी द्वारा चुना गया है। सदफ खान को बीयूई यूनिवर्सिटी, मिस्र, जायद यूनिवर्सिटी, यूएई और द यूएनडीपी की तरफ से निमंत्रण पत्र मिला है।पूरे भारत से सिर्फ सदफ खान को ये सम्मान प्राप्त हुआ है।सदफ खान की राउंड ट्रिप फ्लाइट टिकट और आवास का खर्चा आयोजको द्वारा वहन किया जाएगा।इस सम्मेलन में दुनियाभर से आए जलवायु विद्वान, अंतर्राष्ट्रीय व्यवसायी, जलवायु अधिवक्ता, उद्यमी और विश्वभर से आए 130 युवा एकजुट होकर अपनी आवाज उठाएंगे और देश के प्रतिनिधि और अंतरराष्ट्रीय जलवायु हितधारकों के प्रतिनिधियों के रूप में कार्य करेंगे।सम्मेलन में इंटरनेशनल क्लाइमेट एक्शन, यूथ इन क्लाइमेट,सिलमते एक्शन इन प्रैक्टिस एंड नेगोशिएशन जैसे विषयों पर बात रखी जाएगी।सम्मेलन 3 दिन और 2 दिन प्री कॉन्फ्रेंस रिहर्सल के लिए निर्धारित किया गया है।कुल मिलाकर 6 दिन और 5 रात के लिए मिस्र में रहना निर्धारित किया गया है। इस सम्मेलन का परिणाम जलवायु अनुसंधान और COP-28 डिक्लेरेशन होगा जो पूरे विश्व से आए 130 डेलीगेट्स की आवाज़ का प्रतिनिधित्व करेगा।अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने देश भारत और 142 करोड़ भारतीयों का प्रतिनिधित्व करने जाने को लेकर सदफ खान बहुत गर्व महसूस कर रही है।सदफ खान पहले भी अपनी यूनिवर्सिटी बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी(बीबीएयू),अपने जिले लखनऊ और अपने प्रदेश उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुकी है।इन्होंने युवा कार्य मंत्रालय के अंतर्गत आयोजित युवा प्रवासी भारतीय दिवस में राष्ट्रीय स्तर पर उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व किया।जिला युवा संसद महोत्सव की विजेता बनकर राज्य स्तरीय युवा संसद महोत्सव 2023 में लखनऊ जिले का प्रतिनिधित्व किया।गृह मंत्रालय के अंतर्गत आयोजित राष्ट्रीय जनजातीय युवा आदान-प्रदान कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत की। बीबीएयू के लोक प्रशासन विभाग में राष्ट्रपति स्वर्ण पदक प्राप्त किया।उत्तर प्रदेश सांस्कृतिक विभाग के रेडियो जयघोष में मुख्य वक्ता के रूप में शिरकत की।राष्ट्रीय स्तर पर कई वाद-विवाद, ग्रुप डिस्कशन, एक्सटेंपोर, कार्यशालाएँ और सम्मेलनों में भाग ले चुकी हैं।COP-28 में शामिल होने के लिए सदफ खान बहुत उत्साहित है, और अपनी सफलता का श्रेय अपने पिता समीर खान, अपनी माता अफसाना खान, अपनी बहन शिफा और भाई आतिफ के साथ साथ बीबीएयू के कुलपति प्रो संजय सिंह, डीन ऑफ़ सोशियोलॉजी डिपार्टमेंट प्रो मनीष कुमार वर्मा, एनएसएस समन्वयक व एसोसिएट प्रो. पवन कुमार चौरसिया को दिया हैं।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।