Skip to main content

कविताओं संग नृत्य प्रस्तुति ने बताया जन जन के राम हैं वीक एण्ड पर लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव में उमड़ा जनसैलाब

...
संवाददाता।
लखनऊ 
 प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट एवं प्रगति इवेंट के संयुक्त तत्वावधान में अवध विहार योजना, शहीद पथ, लखनऊ अवध शिल्प ग्राम खुला क्षेत्र में चल रहे लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव की ग्यारहवीं सांस्कृतिक सन्ध्या में कविताओं संग नृत्य ने बताया जन जन के राम।
कविताओं संग नृत्य प्रस्तुति ने बताया जन जन के  राम हैं
 वीक एण्ड पर लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव में उमड़ा जनसैलाब 
लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव की आज की सांस्कृतिक सन्ध्या का शुभारंभ सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था उड़ान द्वारा आयोजित नृत्य रूपक कार्यक्रम ' अवध में राम ' से हुई।
सरिता सिंह के नृत्य निर्देशन में भगवान श्री राम की भक्ति से परिपूर्ण श्री राम आवाहन श्लोक
 ' नीलाम्बुजश्यामलकोमलाङ्गं सीतासमारोपितवामभागम् । पाणौ महासायकचारु चापं नमामि रामं रघुवंशनाथम् ॥' पर जानवी गुप्ता, मिष्ठी केशरवानी, आर्या पटेल, अनुष्का और आकांक्षा ने भाव नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों को भगवान श्री राम की उपस्थिति का भान कराया।
हृदय को हर्षातिरेक से भर देने वाली इस प्रस्तुति के उपरान्त सृष्टि राज, अदिती गौतम, आर्या पटेल और जानवी गुप्ता ने ' अवध में राम आए हैं ' गीत पर भावपूर्ण अभिनय युक्त नृत्य प्रस्तुत कलासुधी दर्शकों को न केवल भगवान श्री राम की भक्ति के सागर में आकन्ठ डुबोया अपितु यह भी बताया की भगवान श्री राम, जन जन के राम हैं। उपरोक्त प्रस्तुति में कलाकारों ने भगवान श्री राम के व्यक्तिव को नृत्य के माध्यम से उकेरने का सार्थक प्रयास किया। इस प्रस्तुति का निर्देशन किया था लोक नृत्यांगना सरिता सिंह ने।
भगवान श्री राम के चरणों में समर्पित इस प्रस्तुति के उपरान्त उड़ान संस्था के कलाकारों पीहू पांडेय, बानी शुक्ला और मिष्ठी ने गुलाबी शरारा पर आकर्षक नृत्य प्रस्तुत कर दर्शकों का दिल जीत लिया।

अगले प्रसून में शैक्षिक साहित्यिक और सांस्कृतिक उत्थान को समर्पित मां विंध्यवासिनी ट्रस्ट लोक जागृति कार्यशाला समिति द्वारा अवध महोत्सव के प्रांगण में 'अवध में बिराजे राम' के अंतर्गत आयोजित कार्यक्रम में लखनऊ की सम्मानित कवयित्रियों ने अपनी प्रस्तुतियों से समा बांधा। कार्यक्रम का प्रारंभ लखनऊ की पूर्व महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा दीप प्रज्वलन के साथ हुआ। प्रियंका पांडे द्वारा सुंदर सरस्वती वंदना और राम स्तुति प्रस्तुत की गई। संस्था की अध्यक्षा साधना मिश्रा विंध्य को सम्मानित करते हुए महापौर ने कहा आज आवश्यकता है नारी शक्ति की जागृति की समय आ गया है की नारी अपनी शक्ति को पहचानें और शालीनता के साथ अपने अधिकारों के लिए स्वयं खड़ी हो। महापौर ने संस्था द्वारा आयोजित रामचरितमानस प्रश्नोत्तरी के सभी प्रतिभागियों और लोक जागृति कार्यशाला में अपना अभिन्न योगदान देने वाले सभी सहभागियों को सम्मान पत्र देकर व अंग वस्त्र के साथ सम्मानित किया। मंच का सुंदर संचालन एकता गुप्ता और अमिता गुप्ता जी के द्वारा संपन्न किया गया कार्यक्रम में मुख्य रूप से डॉ पल्लवी चौबे, पूर्व महापौर संयुक्ता भाटिया संस्था की पदाधिकारी नीलम शुक्ला, सीमा त्रिपाठी, कंचना मिश्रा, रजनी शुक्ला एवं साधना उपस्थित रहीं, श्री रामचंद्र जी के जय घोष के साथ कार्यक्रम सुचारू रूप से संपन्न हुआ।

अगले सोपानों में विकास दृष्टि संस्था द्वारा अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसका मुख्य विषय था विक सित भारत की ओर बढ़ते कदमर साहित्यिक चेतना संस्था के संरक्षक डॉक्टर अखिलेश मिश्रा, शर्मा सरला शर्मा ने इसका संयोजन किया। संस्था की अध्यक्ष डॉ शोभा त्रिपाठी ने बताया कि भारत आज विकास की ओर तेजी से बढ़ रहा है माननीय प्रधानमंत्री जी के सपने के साथ.साथ समस्त भारत वासियों के स्वप्न भी इसमें जुड़े हैं । साहित्य सदैव जनचेतना का प्रमुख माध्यम रहा है। इस संदर्भ में भी सभी क्षेत्र के साथ.साथ साहित्य का भी योगदान महत्वपूर्ण है इसलिए विकास दृष्टि संस्था अपनी साहित्यिक गतिविधियों के माध्यम से लोगों को जागरूक करने का कार्य कर रही है। आज का यह कार्यक्रम इसी विषय पर केंद्रित किया गया है । कार्यक्रम की अध्यक्षता नरेंद्र भूषण ने की । कार्यक्रम के मुख्य अतिथि देवबंद निवासी महान समाजसेवी व साहित्य सेवक श्री गौरव विवेक रहे। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि की भूमिका में सुप्रसिद्ध रचनाकार मंजुल मिश्रा, नवल किशोर त्रिपाठी व रीवा की श्रृंगाररस की कवयित्री क्रांति पांडे रहीं। कार्यक्रम में भोजपुरी व हिन्दी के प्रसिद्ध गीतकार डॉ0 सुभाष रसियाए निर्भय गुप्ता, अजय तोमर, प्रो0 बलवंत सिंहए महेशचंद्र गुप्ता, रेनू द्विवेदी,  निशा नवल,राजेश मल्होत्रा, राजीव वर्मा वत्सल और मनमोहन बरकोटी जी ने अपनी रचनाएं पढ़ी। कार्यक्रम का संचालन डॉक्टर शोभा त्रिपाठी नें किया। कार्यक्रम में साहित्य भूषण विजय शंकर, रुचि मिश्रा, यशराज  रामेश्वरी आदि की महती उपस्थिति रही।

इस अवसर पर नृत्य मंथन स्कूल ऑफ डांस के कलाकारों ने अंकिता बाजपेयी के नृत्य निर्देशन में संचिता, सार्थक, अयान, सैम और अद्विका ने मैस अप की प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में अंकिता बाजपेयी ने एकल नृत्य की प्रस्तुति दी। इसके अलावा स्कूल ऑफ मैनेजमेंट साइंस के कलाकारों गीत और नृत्य की प्रस्तुति दी।

वीकएंड पर लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव में उमड़े लोग

लखनऊ। वीकएंड के कारण लक्ष्मणपुर अवध महोत्सव में सुबह से ही लोगो का तातां लगा रहा, जो शाम होते होते एक हुजूम में बदल गया। शाम का मौसम सुहाना हो गया और इस सुहाने मौसम का लोगोें ने घूमकर खुब लुत्फ उठाया।

सुहाने मौसम में महोत्सव में लोगों ने सहारनपुर के फर्नीचर, भदोही के कालीन, स्वयं सहायता समूहों के घरेलू उत्पाद जैसे पापड़, अचार, मसाले, कश्मीरी ड्राई फ्रूट्स, हस्तनिर्मित बटुए, चादर, सलवार सूट और साड़ी की खरीदारी की तो वहीं बच्चों सहित बड़ों ने झूलो का आनन्द उठाया तो वहीं दूसरी ओर राजस्थानी, गुजराती, साउथ इन्डियन और अवधी व्यंजनों का लुत्फ भी लिया।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।