Skip to main content
नैतिक पार्टी का 16 वां स्थापना दिवस समारोह मनाया गया
...

 संवाददाता 
लखनऊ । नैतिक पार्टी का 16 वां स्थापना दिवस समारोह मनाया गया 
चन्द्र भूषण पाण्डेय, राष्ट्रीय अध्यक्ष, नैतिक पार्टी ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि नैतिक पार्टी के 16वें स्थापना दिवस में आप सबका स्वागत है।
नैतिक पार्टी संविधानिक नैतिकता में विश्वास करती है। नैतिक पार्टी मानती है- श्रीराम भी, संविधान भी। इतने दिनों तक नैतिक पार्टी समझती रही कि व्यवस्था में कमी के कारण जनता परेशान रहती है। इसलिए नैतिक पार्टी द्वारा प्रायः व्यवस्था के विरोध में आवाज उठाया जाता रहा; लेकिन 16 सालों में हमें समझ आ गया कि जनता की परेशानी का कारण व्यवस्था नहीं; बल्कि वे व्यक्ति हैं जो व्यवस्था पर कुंडली मार कर बैठ जाते हैं और व्यवस्था को अपने फायदे के लिए तोड़- मरोड़कर मनमाने ढंग से चलाते हैं। इसलिए अब जरूरी है कि हम व्यक्ति के बारे में चर्चा करें और उसके विरुद्ध आवाज उठाएं। व्यवस्था के शीर्ष पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं इसलिए आज हम उन्हीं के बारे में बात करेंगे।
2014 में इस देश में मोदी-मोदी के नारे लग रहे हैं। कहा जाता है कि मोदी जी ने दुनिया भर में भारत का सम्मान बढ़ाया। उन्होंने हाईवे, टनल बनवाये। शानदार ट्रेनें चलवाई। एयरपोर्ट व पोर्ट बनवाये । शानदार रेलवे स्टेशन बनवाये। मन्दिरों के शानदार कॉरीडोर बनवाया। नया संसद भवन बनवाया। शानदार सभामंडप बनवाए। देश की इकोनॉमी को तीन ट्रिलियन कर दी। अबकी बार प्रधानमंत्री बनेंगे तो पांच ट्रिलियन कर देंगे। वह जो कहते हैं वह करते हैं इसलिए वह मोदी की गारंटी देते हैं। उन्होंने अनेक गारंटी दी हैं जो वह करेंगे। उन्होंने विकसित भारत की गारंटी दी है तो भारत अब विकसित भारत बनकर रहेगा। यह मोदी जी के ही बस की बात थी कि अयोध्या में राम मन्दिर बन पाया । मोदी जी महान है। मोदी अवतार हैं।
सवाल है कि मोदी जी ने यह जो कुछ किया वह किसके लिए किया? यह सब कुछ उन्होंने उन 30 करोड़ लोगों के लिए किया जो शहरों में रहते हैं। मोदी ने यह सब अपनी छवि चमकाने के लिए किया ताकि शहरी लोग जो हर व्यवस्था पर पूरी तरह हावी हैं उनका गुणगान करते रहें और उनकी ऐसी आभामंडल बनाते रहें कि उनके जैसा नेता कोई नहीं है।
लेकिन 100 करोड़ लोग जो गांवों में रहते हैं उनके लिए मोदी ने क्या किया। यह जानने के लिए मैं काशी, मथुरा,अयोध्या, लखनऊ,अमेठी के सांसद क्रमशः नरेंद्र मोदी, हेमा मालिनी, लल्लू सिंह, राजनाथ सिंह व स्मृति ईरानी द्वारा सांसद आदर्श ग्राम योजना में गोद लिए गांवों में गया व उनका अवलोकन किया। जो देखा वो सब चौंकाने वाला था। भारत के गांव दुखद त्रासदी से गुजर रहे हैं। मोदी जी ने 10 सालों में गांव को शौचालय दिया। शौचालयों की हालत यह है कि पानी की व्यवस्था नहीं है जिसके कारण अधिकांश शौचालय बन्द हैं। शौचालयों के दरवाजे टूटे हुए हैं। दरवाजे टूट जाने पर पैसा नहीं है कि गांव वाले दरवाजा फिर से लगा सकें। मोदी जी ने हर घर को नल दिया। हालत यह है कि नल है तो टोटी नहीं और टोटी है तो टंकी नहीं। अगर यह सब है तो पाइप टूटे हैं जिसके कारण पानी नहीं। पानी है तो निकासी नहीं। जिसके कारण जगह-जगह पानी का जमाववाड़ा और मच्छर की भरमार है।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।