Skip to main content

टीचर्स सेल्फ केयर टीम (TSCT) का तृतीय स्थापना दिवस हुआ सम्पन्न

लखनऊ:संवाददाता  

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बेसिक और माध्यमिक शिक्षकों की असामयिक मृत्यु हो जाने पर उनके परिवारों को सीधे आर्थिक मदद पहुंचाने वाली संस्था टीचर्स सेल्फ केयर टीम का तृतीय स्थापना दिवस 26 जुलाई, बुधवार को लखनऊ के अटल बिहारी बाजपेई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में संपन्न हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता "नंदी" तथा विशिष्ट अतिथि के तौर पर एमएलसी लाल जी प्रसाद निर्मल मौजूद रहे। इस कार्यक्रम में टीएससीटी के प्रदेश भर के हजारों पदाधिकारी मौजूद रहे। कार्यक्रम का प्रारंभ मां सरस्वती के दीप प्रज्वलन और माल्यार्पण से हुआ। इसके बाद अतिथियों और प्रदेश भर से आए हजारों पदाधिकारियों को मेडल और ट्राफी देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर प्रदेश भर से आए पदाधिकारियों ने संस्था के संस्थापक मंडल का भी माला, बुके और पटुका पहनाकर सम्मानित किया। तीन वर्ष पहले इस टीम की स्थापना प्रयागराज के शिक्षक विवेकानंद और उनके साथियों सुधेश पाण्डेय, महेंद्र वर्मा एवं संजीव रजक द्वारा की गई। इस टीम द्वारा अब तक 3 वर्षो में 119दिवंगत शिक्षको के परिवारों को सीधे उनके खाते में लगभग 26करोड़ रुपए की आर्थिक मदद कर चुकी है। स्थापना दिवस कार्यक्रम के दौरान मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता "नंदी" ने कहा कि शिक्षको ने सदैव समाज में एक मिशाल पेश की है और टीचर्स सेल्फ केयर टीम ने आज पूरे प्रदेश भर में बहुत छोटी छोटी सी सहयोग राशि इकट्ठा करके करोड़ों रुपए की मदद कर डाली है। यह निश्चित रूप से बहुत ही अद्भुत कार्य है। उन्होंने संस्था को अपनी शुभकामनाएं देते हुए कहा कि वो सदैव संस्था के बेहतरी के लिए सहयोग प्रदान करेगे। विशिष्ट अतिथि एमएलसी लाल जी निर्मल ने कहा कि ऐसी योजनाओं को हर किसी को अनुसरण करना चाहिए और सहयोग की भावना को चेतना के रूप में विकसित करना चाहिए। 
 कार्यक्रम के संस्थापक एवं अध्यक्ष विवेकानंद ने कहा कि TSCT ने एकता की शक्ति की नई मिशाल पेश की है। संस्था ने 3वर्ष के अल्पावधि में ही एक ऐसा मुकाम हासिल किया है जो आज तक कभी नही हुआ। सह संस्थापक एवं प्रदेश महामंत्री सुधेश पाण्डेय ने कहा कि TSCT ने तकनीक के आधार पर प्रदेश की पहली ऐसी संस्था है जो पूरी पारदर्शिता के साथ कार्य कर रही है। टीम ने साबित किया है कि शिक्षक वाकई में राष्ट्र की नई नई विधाओं का निर्माता है। सह संस्थापक एवं प्रबंधक महेंद्र वर्मा ने कहा कि TSCT दिवंगत शिक्षको के परिवारों से बिना भाग दौड़ और किसी भी प्रकार के खर्च के बिना सीधे उसके द्वार जाकर परिवारों की मदद करती है। सह संस्थापक एवं कोषाध्यक्ष संजीव रजक ने कहा कि यह एक ऐसी संस्था है जो एक चाय को कीमत में करोड़ों की मदद करने जा रही है। इस अवसर पर प्रदेश पदाधिकारियों में अंकिता शुक्ला, अनिल वर्मा, विवेक मिश्र,अवनीश यादव,अखिलेश मिश्रा,सुमन भटोनिया,विपुल मिश्र,रितेश मिश्र, चंद्रशेखर सिंह, एवं नरेंद्र गंगवार ने अपने विचार रखें। प्रदेश प्रवक्ता डॉ० फर्रुख हसन और प्रदेश सचिव बबिता वर्मा ने कार्यक्रम का संचालन किया।


Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।

7 सितंबर को गोरखपुर में पेंशनरों के सम्मेलन को राष्ट्रीय अध्यक्ष संबोधित करेंगे।

 संवाददाता :लखनऊ  लखनऊ।5 सितंबर ईपीएस-95 95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति न्यूनतम पेंशन बढ़ाने की मांग को लेकर सभी राज्यों में आंदोलन, प्रदर्शन और सम्मेलन कर रही है इसी क्रम में उत्तर प्रदेश में पेंशनरों का सम्मेलन 7 सितंबर को गोरखपुर में आयोजित किया गया है, जिसमें समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमांडर अशोक राउत महाराष्ट्र से पधारेंगे और सम्मेलन को संबोधित करेंगे । इस सम्मेलन में उत्तर प्रदेश सहित तेलंगाना, महाराष्ट्र ,छत्तीसगढ़, उत्तराखंड आदि अनेक राज्यों से राष्ट्रीय नेता शामिल होंगे ।  राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री के एस तिवारी और प्रांतीय महामंत्री श्री राजशेखर नागर ने एक वक्तव्य में बताया कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और गोरखपुर से राज्यसभा के सांसद डॉ राधामोहन दास अग्रवाल सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित होंगे उन्होंने ही 3 अगस्त को राज्यसभा में न्यूनतम पेंशन बढ़ाने का मुद्दा उठाया था। अतः उनके सामने समिति के राष्ट्रीय व प्रांतीय पदाधिकारी पेंशनरों की समस्याओं को उजागर करेंगे । सम्मेलन में प्रदेश के सभी जिलों  के पेंशनर बड़ी संख्या में भाग लेंगे ।