Skip to main content

वैदिक घड़ी के आविष्कारक और निर्माता आरोह श्रीवास्तव की प्रेस वार्ता और स्वागत समारोह का कार्यक्रम किया गया आयोजित

... 

 संवाददाता  
-स्वदेशी जागरण मंच के द्वारा कार्यक्रम किया गया आयोजित 

लखनऊ। विश्व की पहली वैदिक घड़ी का लोकार्पण 29 फरवरी को उज्जैन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा किया गया। इस घड़ी के आविष्कारक मर्चेन्ट नेवी में अधिकारी रहे लखनऊ के गोमती नगर निवासी आरोह श्रीवास्तव ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि इंगलैण्ड में मर्चेन्ट नेवी की पढाई करते समय उनके मन में वैदिक घड़ी
बनाने का विचार आया था। उन्होने बताया कि वैदिक घड़ी भारतीय काल गणना के 30 मुहूर्त पर आधारित है। उज्जैन को सृष्टि के आरम्भ से ही काल गणना का केन्द्र माना जाता है। वैदिक घड़ी को कालगणना के समस्त घटकों को समाहित करके बनाया गया है। इसमें भारतीय पंचांग समाहित है। विक्रम सम्वत् मास, ग्रह स्थिति, योगभद्रा स्थिति,चन्द्र स्थिति, पर्व, शुभ, अशुभ मुहूर्त,घटी,नक्षत्र, जयंती, व्रत, त्यौहार, चौघड़िया,सूर्यग्रहण, चन्द्रग्रहण,गृह नक्षत्र, गृहों के परिग्रहण सब इसमें
स्वाभाविक रूप से समाहित किये गये हैं।
आरोह श्रीवास्तव के अनुसार वैदिक घड़ी 30 मुहूर्त की घड़ी है। यह आज सूर्य उदय से कल सूर्य उदय तक के काल खण्ड को 30 मुहूर्त में विभाजित करती है। यह घड़ी 30 घंटे 30 मिनट और 30 सेकेंड की है जिसे प्राचीन काल की भाषा में 30 मुहूर्त 30 काल और 30 कास्था कहा जाता था। यह वैदिक घड़ी जो 2 सूर्योदय का कालखण्ड है इसे निर्धारित करने की वजह से जब भी शून्य बजता है उस समय उस स्थिति पर सूर्य उदय हो रहा होता है जो कि 24 घंटे की प्रणाली पर बनी हुई घड़ियां नहीं बता पाती हैं। आम तौर पर लोगों को स्टैंडर्ड टाइम देखने की आदत है किसी तरह का कोई भ्रम न रहे इसलिए
वैदिक घड़ी में वैदिक काल के साथ-साथ स्टैंडर्ड टाइम के साथ ग्रोन व्हिच टाइम की भी व्यवस्था की गई है।
आरोह श्रीवास्तव ने बताया कि इसका ऐप भी उपलब्ध है जिसको आप
अपने मोबाइल पर डाउनलोड करके आसानी से घड़ी देख सकते हैं।
स्वदेशी जागरण मंच और समाज के कई गणमान्य व्यक्तियों द्वारा वैदिक
घड़ी के आविष्कारक आरोह श्रीवास्तव का स्वागत किया गया। जिसमें स्वावलम्बी भारत अभियान के अवध प्रान्त समन्वयक अमित सिंह प्रान्त सह-समन्वयक आदर्श श्रीवास्तव, जिला समन्वयक अमित वरनवाल, महिला सह-समन्वयक, निर्मला गुप्ता, पुनीता भटनागर, स्वदेशी जागरण मंच के क्षेत्र सयोजक अनुपम श्रीवास्तव, लखनऊ महानगर संयोजक विजय गुलाटी, सह संयोजक अरुण चड्ढा सह संयोजक डा० मंगलेश श्रीवास्तव, सम्पर्क प्रमुख वैभव स्वर्णकार, सोशल मीडिया प्रमुख कुलदीप खरे, अवध प्रान्त युवा प्रमुख किशन सिंह, अवध प्रान्त सम्पर्क प्रमुख अभिषेक सिन्हा, अवध प्रान्त प्रचार प्रमुख डा० आनन्द दीक्षित, महिला प्रमुख सोनी सिंह, भारतीय जनता पार्टी प्रदेश सह संयोजक सांस्कृतिक प्रकोष्ठ श्रीमती नीरा सिन्हा वर्षा जी, प्रदेश सह संयोजक गौरव अवस्थी, जिला संयोजक - डा०एन० यादव, अखिल भारतीय कायस्थ महासभा से आलोक सक्सेना, महेन्द्र बहादर जौहरी, राजेश श्रीवास्तव, अनूप श्रीवास्तव, आलोक 
श्रीवास्तव...
आदि कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।