Skip to main content

...
संवाददाता। लखनऊ 
केंद्रीय रक्षामंत्री एवं सांसद लखनऊ श्री राजनाथ सिंह की प्रेरणा से भाजपा नेता नीरज सिंह के संयोजन में कौशल विकास उद्यमिता मंत्रालय (एमएसडीई) के तत्वाधान में राष्ट्रीय कौशल विकास निगम (एनएसडीसी) 9-10 मार्च 2024 को यूनिवर्सिटी ग्राउंड,लखनऊ में लखनऊ कौशल महोत्सव (नौकरी /रोजगार मेला) का आयोजन कर रहा है। आयोजन के संबंध में हलवासिया कोर्ट, हजरतगंज में आयोजित प्रेस वार्ता को भाजपा नेता नीरज सिंह ने संबोधित करते हुए कहा कि 
कौशल महोत्सव कौशल विकास के परिदृश्य में एक गेम-चेंजर साबित होगा और यह लखनऊ क्षेत्र और आसपास के जिलों में रोजगार के कई अवसर प्रदान करेगा। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 10 मार्च को समापन अवसर पर उपस्थित रहेंगे।प्रेस वार्ता में लखनऊ महानगर अध्यक्ष आनंद द्विवेदी, सुधीर हलवासिया, पी.के पुंडीर और आयोजक मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी मुख्य रूप से उपस्थित रहे।
सार्वजनिक-निजी भागीदारी को बढ़ावा देगा और युवाओं को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार के अवसर मिलेंगे।
प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी की प्रतिबद्धता के अनुरूप युवाओं को उनकी प्रतिभा, योग्यता और कौशल के अनुरूप रोजगार उपलब्ध करने की दिशा में रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है।
माननीय मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ के दूरदर्शी नेतृत्व में, राज्य बेहतर कनेक्टिविटी को बढ़ावा दे रहा है, इंफ्रास्ट्रक्चर में रणनीतिक निवेश में तेजी ला रहा है और युवाओं के लिए समृद्ध जॉब के अवसर प्रदान कर रहा है।

उत्तर प्रदेश मे लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में इन्वेस्टर समिट के आयोजन हुए हैं जिसमें देश की 118 बड़ी कंपनियां 35 लाख करोड़ का एमओयू साइन किए थे। सिर्फ एमओयू साइन नहीं हुऐ हैं। मुख्यमंत्री जी परियोजनाओं के शिलान्यास भी करते हैं और उद्घाटन भी करते हैं। ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी करके 10 लाख करोड़ की योजनाओं को जमीन पर उतरने का कार्य किया है।

हमारे माननीय रक्षा मंत्री लखनऊ को एक मेट्रोपोलिटन सिटी में बदलने की कल्पना करते हैं और यह पहल वास्तव में इंडस्ट्री और एकेडेमिया के बीच के गैप को कम देगी और सभी के लिए समान अवसर पैदा करेगी"। राजनाथ सिंह जी के प्रयासों से लखनऊ में 105 किलोमीटर की रिंग रोड बनती है और टर्मिनल 3 का उद्घाटन भी करने वाले हैं। गोमती नगर रेलवे स्टेशन का उद्घाटन प्रधानमंत्री जी ने वर्चुअल रूप से स्वयं किया है। लखनऊ की धरती पर ब्रह्मोस मिसाइल भी बनेगी और यह सब सारे ही कार्य जब जमीन स्तर पर आएंगे तो जो रोजगार उपलब्ध होंगे जो भारत की आर्थिक विकास में भागीदार बनेंगे। लखनऊ में और अधिक रोजगार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने निश्चय किया कि लखनऊ में कौशल विकास महोत्सव का आयोजन लखनऊ में करना है और युवाओं को उनकी योग्यता के अनुसार रोजगार के अवसर प्रदान कर पाए ऐसी उनकी सोच है और राजनीतिक प्रेरणा से इस बृहद स्तर पर मेले का आयोजन किया जा रहा है।

 पिछले वर्ष आयोजन किया था तो 5000 से अधिक नौकरियां उपलब्ध कराई गई थी और इस बार भी यह आंकड़ा बड़ा ही होगा और यहां के युवाओं को नौकरी उपलब्ध कराकर इस देश के विकास में युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित करेंगे।

श्री वेद मणि तिवारी, सीईओ, एनएसडीसी और एमडी, एनएसडीसी इंटरनेशनल ने कहा, “एनएसडीसी के तहत हम कौशल प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से युवा शक्ति को सशक्त बना रहे हैं और उन्हें आत्मनिर्भर बना रहे हैं। यह महोत्सव युवाओं को शामिल करने और उन्हें विभिन्न क्षेत्रों में नौकरी के अवसरों से परिचित कराने के लिए एक उत्कृष्ट मंच है। मुझे विश्वास है कि कौशल महोत्सव हमारे युवाओं को नौकरी और करियर विकास के अवसर प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

एनएसडीसी के सीईओ नितिन कपूर ने भी प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए जानकारी दी की कौशल महोत्सव रोजगार मेले में
90 से अधिक कंपनी आ रही है जिसमें विभिन्न सेक्टर में 20000 से अधिक रोजगार के अवसर मिलेंगे।। अमेजॉन, एग्रो, जिओ, एसबीआई कार्ड, बजाज कैपिटल, फ्लिपकार्ट, एक्सिस बैंक, हुंडई मोटर, इंडिगो, डोमिनोज, लुलु इंडिया शॉपिंग मॉल, मैक्स लाइफ श्रीराम फाइनेंस, वी-मार्ट जैसे कई बड़ी कंपनियां महोत्सव में रहेंगी।

रोजगार मेले में शामिल होने के लिए युवाओं को एनएसडीसी के पोर्टल https://www.nsdcjobx.com/ पर जाकर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। पोर्टल पर मेले में आ रही कंपनियों और उनके पदों का ब्योरा भी दिखेगा। अभ्यर्थी अपनी योग्यता के मुताबिक पद के लिए रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं।

तय कार्यक्रम के मुताबिक 9 मार्च को सुबह 8 से शाम 5 बजे तक और 10 मार्च को सुबह 8 से दोपहर 2 बजे तक इंटरव्यू चलेंगे

रोजगार मेले में 36 परसेंट नौकरियां लखनऊ बेस ही हैं और अन्य 45% उत्तर प्रदेश के अन्य शहरों की है और 19 प्रतिशत उत्तर प्रदेश के बाहर की है।

कोशिश यह है कि जो युवा महोत्सव में आए उनको उनकी काबिलियत के अनुसार रोजगार उपलब्ध कराया जा सके।
2.1 से 3 लाख के मध्य में पैकेज रहेगा सालाना। जो
20000 से अधिक कंपनियां के अवसर हैं जिसमें 30 से 40% को नौकरी अवश्य मिलने की उम्मीद है।
उत्तर प्रदेश दुनिया का सबसे बड़ा लेबर मार्केट बन गया है और इसके योग्य, और कुशल युवा इसकी पहचान हैं; उनकी आकांक्षाओं के अनुरूप उनकी क्षमता का उपयोग करने से 2047 तक माननीय प्रधानमंत्री जी के 'विकसित भारत' के विज़न को पूरा करने में मदद मिलेगी। स्किल इंडिया मिशन के तहत देश के कई राज्यों में आयोजित कौशल महोत्सव 'कुशल भारत-विकसित भारत' के विज़न को आगे बढ़ा रहा है और देश के युवाओं को प्रासंगिक रोजगार के अवसरों से लगातार जोड़ रहा है।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।