Skip to main content

अलविदा अवध महोत्सव फिर मिलेंगे

...
 संवाददाता 
अलविदा अवध महोत्सव फिर मिलेंगे
लखनऊ ।
प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट द्वारा संचालित लक्ष्मणपुर कार्निवल अवध महोत्सव जो 7 दिसंबर से आरंभ होकर 22 दिसंबर तक चला। महोत्सव ने अपनी ढेर सारी यादें समेट कर अलविदा कहा।
प्रगति पर्यावरण संरक्षण ट्रस्ट के अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह द्वारा संकल्पित लक्ष्य ‘पर्यावरण प्रदूषण नारी सशक्तिकरण, शिक्षा, चिकित्सा, नशा उन्मूलन जैसे समाज में फैली हुई तमाम बुराइयों को समाप्त करने के लिए सरकार और सरकारी विभागों के साथ पूरी जिम्मेदारी के साथ अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर हो रहे हैं। 
7 दिसंबर को आरंभ हुए अवध महोत्सव में प्रतिदिन सुंदरकांड मधुर संगीत के साथ होता रहा एवं विभिन्न प्रांतो एवं प्रदेशों के लोकगीत नृत्य वहां के स्थानीय कलाकारों द्वारा बहुत ही सुंदर तरीके से प्रस्तुत किया जाता रहा। महोत्सव में युवा एवं श्रेष्ठ कवियों द्वारा कविता पाठ किया गया प्रतिदिन साहित्य एवं उनसे जुड़ी विधाओं पर परिचर्चा हुई। कहते हैं साहित्य संगीत और कलाओं का आपस में बहुत ही गहरा रिश्ता होता है और यही सब जब एक मंच पर एकत्रित हो जाए तो उस मंच की शोभा और बढ़ जाती है। अवध विहार योजना अवध शिल्पग्राम खुला क्षेत्र के मैदान में यह सब कुछ साकार हुआ। इस महोत्सव में देश के कई राज्यों के उत्पाद और उनसे जुड़ी वस्तुओं का स्टॉल दिखाई दिया। आए हुए दर्शकों ने इंस्टॉल पर खरीदारी में बहुत रुचि दिखाई। अवध महोत्सव में अमेरिकन भुट्टा का स्वाद लोगों ने खूब लिया, इमरान शाहजहांपुर वाले के बेहतरीन झूले जैसे टोरा–टोरा रेंजर, डबल डिस्क नाव झूला, ब्रेक डांस ने बच्चों और युवाओं को बहुत लुभाया। महोत्सव के खास चटोरे, लाल की चटपटी भेलपुरी ने दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित करने का कार्य किया। तंदूरी चाय, विभिन्न प्रकार की पकौड़ियां और और भी बहुत सारे आइटम लोगों ने बहुत पसंद किया। इस संबंध में अनुराधा साहू का कहना है कि यह हमारा पुश्तैनी कार्य है और हम चाहते हैं कि लोगों को अच्छा से अच्छा स्वाद और सेहतमंद व्यंजन परोसा जाए। महोत्सव में वाहिद की बिरियानी की महक चारों तरफ फैली,एडोर कैटरर्स की तीन तरह के छोले भटूरे के साथ और कबाब पराठा का लोगों ने खूब लुफ्त उठाया। बिना राजस्थानी व्यंजन सब कुछ फीका है। आपनो राजस्थान के दाल बाटी चूरमा, मूंग का हलवा, मारवाड़ी स्पेशल कुल्फी और भी बहुत सारे व्यंजनों ने खूब दर्शक बटोरे। इनके साथ ही जम्मू कश्मीर के उत्पाद और कई राज्यों के आए हुए रजाई, कंबल,चादर और विशेष रूप से भदोही की कालीनों ने महोत्सव में लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचा। इंक्रेडिबल आर्ट के उत्पाद आकर्षण के केंद्र बिंदु रहे। महोत्सव में बहुत ही विशेष स्थान ग्रहण किया खलील उल रहमान के फर्नीचर ने। रहमान हैंडीक्राफ्ट के क्षेत्र में राष्ट्रपति द्वारा नेशनल अवार्ड भी पा चुके हैं। उनके फर्नीचरों ने खूब वाह–वाही लूटी। लोगों ने फर्नीचर को खूब पसंद किया और खरीदा। महोत्सव में बनारसी बाबू के फायर पान ने सबको ठंड में गर्मी का एहसास दिला दिया। 
संस्था के उपाध्यक्ष एन बी सिंह ने बताया कि चुनौती पूर्ण इस महोत्सव को जितना प्यार जनता ने दिया, उसके लिए हम सबके आभारी है। हमारे दुकानदारों ने बहुत मेहनत करके महोत्सव को सफल बनाने में अपना योगदान दिया।
महोत्सव में पुलिस प्रशासन,फायर डिपार्मेंट और अन्य सरकारी विभागों का भरपूर सहयोग प्राप्त हुआ। महोत्सव में सुरक्षा, सफाई और चिकित्सा की समुचित व्यवस्था की गई थी। संस्था से जुड़े लोगों द्वारा– विशेष रूप से दिलीप श्रीवास्तव, प्रिया सिंह, शिवम सिंह और सभी स्टाफ– दिन–रात कड़ी मेहनत की गई। महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रिया पाल के नेतृत्व में बहुत ही सुंदर एवं आकर्षक तरीके से संपन्न कराया गया। मंच का संचालन अरविंद सक्सेना एवं हेमा खत्री ने बहुत ही सुंदर अंदाज में किया।
आपके प्यार और स्नेह को ध्यान में रखते हुए, हम फिर मिलेंगे।

Comments

Popular posts from this blog

मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ का प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव सहकारिता भवन में सकुशल संपन्न हुआ

 संवाददाता लखनऊ l मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० (सम्बद्ध उत्तर प्रदेश राज्य कर्मचारी महासंघ) का  प्रांतीय द्विवार्षिक अधिवेशन एवं चुनाव आज  सहकारिता भवन सभागार , लखनऊ में सकुशल संपन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि  केंद्रीय राज्य मंत्री ( कौशल किशोर) आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय भारत सरकार रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में उ०प्र० राज्य कर्मचारी महासंघ एवं उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  एस०पी० सिंह,  कमलेश मिश्रा,  नरेन्द्र प्रताप सिंह, उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के प्रांतीय संरक्षक  राम विरज रावत, पूर्णिमा सिन्हा उर्फ़ पूनम सिन्हा (फाउंडर ऑफ़ परिषद् ऑफ़ सहकारिता बैंक), प्रांतीय संरक्षक, मातृ शिशु कल्याण महिला कर्मचारी संघ, उ०प्र० की  प्रभा सिंह उपस्थित रहे। इस अवसर पर उ०प्र० फेडरेशन ऑफ़ मिनिस्ट्रियल सर्विसेज एसोसिएशन के  दिवाकर सिंह, प्रांतीय अध्यक्ष एवं कनौजिया विनोद बुद्धिराम, कार्यकारी प्रांतीय अध्यक्ष,  चुनाव अधिकारियों की देख-रेख में चुनाव सकुशल संपन्न कराया गया । इस चुनाव में “स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग” क

सरकार ने शीघ्र मांगे नहीं मानी तो पेंशनर स्थगित आंदोलन पुनः चालू करेंगे

 ...   संवाददाता। लखनऊ  ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति और स्टेफको के संयुक्त तत्वाधान में आज एक सभा आवश्यक वस्तु निगम के गोखले मार्ग स्थित मुख्यालय में प्रांतीय महामंत्री राजशेखर नागर की अध्यक्षता में संपन्न हुई। जिसमें पिछले दिनों दिल्ली के रामलीला मैदान में पेंशनरों की रैली और जंतर मंतर पर अनशन के दौरान श्रम मंत्री भूपेंद्र यादव द्वारा समिति के राष्ट्रीय नेताओं को बुलाकर वार्ता करने एवं आश्वासन देने के बाद आंदोलन स्थगित रखने की जानकारी दी गई।सभा में वक्ताओं ने कहा कि हमें अब सरकार के कोरे आश्वासनों पर विश्वास नहीं करना चाहिए और अगर सरकार शीघ्र ही हमारी मांगे नहीं मानती है तो स्थगित आंदोलन को पुनः और बड़े स्तर पर जारी करना चाहिए।तभी सरकार कोई ठोस कार्रवाई करेगी।समिति के राष्ट्रीय सचिव राजीव भटनागर ने बताया कि श्रम सचिव के साथ शीघ्र एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित करने का प्रयास हो रहा है जिसमें न्यूनतम पेंशन बढ़ाने के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया जाएगा।अनेक वरिष्ठ केंद्रीय मंत्रियों द्वारा भी समिति के नेताओं से वार्ता कर उनकी मांगों का समर

पेंशनरों ने मुख्यमंत्री से पेंशन बढ़ाने और बकाया एरियर्स के भुगतान कराने की माँग की

 लखनऊ/संवाददाता   10 जुलाई। ईपीएस-95 राष्ट्रीय संघर्ष समिति के महामंत्री राज शेखर नागर के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के  जनता  दर्शन  में   ईपीएस-95  पेंशनरों की   न्यूनतम पेंशन बढ़वाने ,फ्री मेडिकल सुविधा दिलवाने की माँग की। इसके अतिरिक्त उत्तर प्रदेश  के अधिकांश निगमों में छठा  वेतनमान का  एरियर का भुगतान नही हुआ है जबकि  पेंशनरों को बहुत कम पेंशन मिलने से आर्थिक बदहाली झेल  रहे हैं।  इसलिए  मुख्यमंत्री से सभी निगमों के  पेंशनरों  को छठे वेतनमान के बकाया एरियर्स का  भुगतान करने के आदेश निर्गत करने की भी माँग की गई। आवश्यक वस्तु निगम में पेंशनरों की  महासमिति की  बैठक मे  निर्णय लिया गया कि  यदि  बकाया एरियर्स का भुगतान शीघ्र नहीं किया गया तो निगम के सेवानिवृत्त कर्मी   अनशन पर बैठेंगे।       महासमिति की बैठक में हबीब खान, राजीव  भटनागर, पी के  श्रीवास्तव, फ्रेडरिक क्रूज,एन सी सक्सेना,राजीव पांडे, सतीश श्रीवास्तव  पीताम्बर भट्ट उपस्थिति रहे।  राजीव भटनागर  मुख्य समन्वयक  उत्तर प्रदेश।